Monday, May 17, 2010

देश बड़ा हो जाएगा।

नन्हा बीज एक बो दो तुम,
वही पेड़ बन जाएगा।
छोटा सा तुम दीप जला दो,
अन्धकार मिट जाएगा।
मीठा बोल अगर बोलो तो,
अपनापन बढ़ जाएगा।
बिना रूके चलते जाओ तो,
तुम्हें लक्ष्य मिल जाएगा॥
अगर ईंट पर ईंट धरो तो,
देश बड़ा हो जाएगा।

No comments: